जिला उपायुक्त अमित खत्री की अध्यक्षता में त्रैमासिक सर्वेक्षण बैठक आयोजित की

गुरूग्राम। जिला उपायुक्त अमित खत्री की अध्यक्षता में आज प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की त्रैमासिक सर्वेक्षण बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में योजना की प्रगति की समीक्षा की गई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त अमित खत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना एक महत्वाकांक्षी योजना है जिसका लाभ पात्र व्यक्तियों को मिलना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने बैठक में उपस्थित अधिकारियों से कहा कि वे इस योजना की जानकारी समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करवाएं और लोगों को योजना के संबंध में जानकारी दें। बैठक में योजना की प्रगति को लेकर भी विस्तार से चर्चा की गई। महिला एवं बाल विकास विभाग की कार्यक्रम अधिकारी सुनैना ने बताया कि प्रधानमंत्री मातृ वंदन योजना के तहत अब तक जिला में लगभग १४ हजार ६१२ गर्भवती महिलाओं का रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है। इस योजना के तहत महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा सभी गर्भवती महिला एवं स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को ५००० रूप्ये तक का मातृत्व लाभ दिया जाता है। गर्भवती महिलाओं को पोषक आहार देने तथा भावी पीढ़ी के स्वास्थ्य की दिशा में यह योजना मील का पत्थर साबित हो रही है। महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूती प्रदान करने के उद्देश्य से इस योजना की शुरूआत की गई है। इस योजना का लाभ किसी भी सरकारी विभाग में कार्यरत महिला को नही दिया जाएगा। इसका लाभ उठाने के लिए महिला को अपने नजदीकी आंगनवाड़ी केन्द्र व सर्कल सुपरवाइजर से संपर्क कर आवेदन कर सकती है ताकि जल्द ही उनके खातों में सहायता राशि डाली जा सके। इस योजना के तहत सहायता राशि का भुगतान किश्तों मे किया जाता है। तीन महीने की गर्भावस्था के बाद पहली किश्त एक हजार रूप्ये की दी जाती है। दूसरी किश्त लाभार्थी को छह महीने की गर्भावस्था के बाद २ हजार रूप्ये की दी जाती है, जबकि अंतिम किश्त बच्चे के जन्म के पंजीकरण के बाद व बच्चे के बीसीजी , ओपीवी, डीपीटी व हैपेटाइटिस-बी टीके की रिपोर्ट के आधार पर दो हजार रूप्ये की दी जाती है। योजना संबंधी तथ्यों पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने बताया कि इस योजना को लेकर महिलाओं में जागरूकता अपेक्षाकृत बढ़ी है। आज महिलाएं बढ़चढ़ कर इस योजना के तहत रजिस्ट्रेशन करवा रही है ताकि वे स्वयं के साथ साथ होने वाले शिशु का भी ध्यान रख सकें। उन्होंने गर्भवती महिलाओं से अपील करते हुए कहा कि वे इस योजना के तहत स्वयं का रजिस्टेशन करवाएं और इसका लाभ उठाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *