सरदार पटेल ने साकार किया ‘एक भारत’ की परिकल्पना : जीएल शर्मा

गुरुग्राम। लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की 143वीं जयंती पर हरियाणा डेयरी प्रसंघ के चेयरमैन जीएल शर्मा ने उन्हें जहां भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की वहीं उन्होंने कहा कि आजादी के तुरंत बाद सही मायने में सरदार पटेल ने भारतीय संघ की परिकल्पना को साकार कर दिखाया। उन्होंने कहा कि, वे लौह पुरुष थे और वास्तव में एकीकृत भारतीय राष्ट्रवाद के जनक थे। जीएल शर्मा यहां कादीपुर कम्युनिटी सेंटर में पटेल विकास मंच द्वारा आयोजित सरदार पटेल जयंती समारोह में उपस्थित आमजन को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर बड़ी संख्या में महिलाएं व बच्चे उपस्थित थे। मुख्य अतिथि के रूप में समारोह को संबोधित कर जीएल शर्मा ने उपस्थित लोगों खासकर युवाओं का आह्वान किया कि वे भविष्य के ‘भारत विशाल’ के नायक हैं। उनकी जिम्मेदारी है कि सरदार पटेल ने जिस दृढ़ता, संकल्प शक्ति और विराट व्यक्तित्व के बल 563 देशी रियासतों को भारतीय संघ में शामिल कर वर्तमान भारतवर्ष की भौगोलिक रूपरेखा प्रदान की है, उसे अक्षुण रख सकें। जीएल शर्मा ने कहा कि, इतिहास गवाह है जब जूनागढ़, हैदराबाद के निज़ाम ने भारतीय संघ में शामिल होने से इनकार किया तो लौह पुरुष ने अपनी बुद्धिमता और दृढ़ता के बल पर उन्हें संघ में शामिल होने को मजबूर किया। देशवासियों का आज भी मानना है कि अगर प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की जगह सरदार पटेल कश्मीर मामले का हल निकालते तो कश्मीर समस्या नाम की चीज नहीं होती। उन्होंने कहा, सरदार पटेल देश के खिलाफ काम करने वालों के प्रति बेहद कठोर थे। जीएल शर्मा ने लौह पुरुष के जन्म जयंती पर दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा के अनावरण की चर्चा करते हुए कहा, आजाद भारत में उत्तरोत्तर सरदार पटेल को भुलाने का काम किया गया। सरदार पटेल जिस सम्मान के हकदार थे, उन्हें आज प्रधानमंत्री मोदी ने स्थापित किया है। आज सरदार पटेल के व्यक्तित्व व कृतित्व के बारे में देश-दुनिया में चर्चा हो रही है। कृतज्ञ देशवासी उन्हें याद कर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। समारोह में पटेल विकास मंच के अध्यक्ष डॉ. वागेश पटेल, संरक्षक वीके पटेल, मीडिया प्रभारी राजेश पटेल ने जीएल शर्मा का स्वागत किया और स्मृति चिन्ह प्रदान कर उन्हें सम्मानित किया। इस मौके पर उपाध्यक्ष वीके सिंह, महासचिव धर्मेंद्र कुमार, संगठन मंत्री विजेंद्र सिंह गंगवार, राजेंद्र कुमार, डॉ. सुरेश पटेल, रामानंद सिंह, रितेश कुमार, जय प्रकाश, सुबोध कुमार, भीमशंकर सिंह सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *