गुरुग्राम महिला हॉस्टल का विवाद खत्म

गुरूग्राम। गुरुग्राम में महिला होस्टल को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा था….जिसके चलते होस्टल में कई समस्याओं से इसमें रहने वाली महिलाओं औ$र युवतियों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही थी…..जिसके बाद गुरुवार को महिला आयोग की सदस्या ने समस्याओं को सुना और उनका समाधान निकाला….वही पूरानी वार्डन को 4 दिनों के अंदर होस्टल खाली करने के आदेश भी जारी किये गए है। गुरुग्राम का एक मात्र कामकाजी महिला होस्टल काफी समय से समस्याओं को झेल रहा है….वही विवादों के चलते इस होस्टल का रेन्यूवेशन तक का काम नहीं हो पा रहा था…वही इस होस्टल में रहने वाली कामकाजी महिलाओं को सुरक्षा, टाइमिंग , पानी बिजली औ$र इमारत की खस्ता हाल जैसी कई समस्याओं का समाना करना पड़ रहा था….जिसके चलते लगातार ये मांग उठ रही थी यहां रहना खतरे से खाली नहीं है…..लेकिन इसी को लेकर आज महिला आयोग की सदस्याओं ने इस मामले में समस्याओं को सुना और उनका समाधान निकाला…..वही अब इस होस्टल में एक महिला और दो पुरुष गार्ड की भी नियुक्ति की जायेगी…जिससे सुरक्षा पुख्ता हो सके। साइबर सिटी में वर्किंग महिलाओ को टाईमिंग कि दिक्कत हो रही थी क्योकि रेड़ क्रास आवास 9 बजे बंद हो जाता हैं जिससे कामकाजी महिलाओ को दिक्कतों का सामना करना पड रहा था। जब उन्होने इस परेशनी को महिला आयोग के समक्ष रखा तो महिला अयोग ने उनकी परेशानी को समझते हुए उसका समाधान किया। इसके अलावा गुरूग्राम के महिला आवास में पिछले कुछ समय से आवास कि वार्डन उर्मिल जो अब रिटायर हो चुकी हैं उनकी कुछ ग्रीवांसीस थी जिसकी महिला आयोग को शिकायत दी गई थी। जिसका समाधान महिला आयोग कि सदस्य ने किया। वही इस मौके पर प्रबंधन अधिकारियों और महिला आयोग सदस्यों ने ये निर्णय लिया गया है…..पूरानी वार्डन होस्टल से रिटायर्ड हो चुकी है लेकिन वो होस्टल नहीं छोड़ रही थी….जिसके बाद अब उन्हे ये फरमान सुनाया गया कि वो 4 दिनों में होस्टल खाली कर दे…..वही होस्टल में नई वार्डन ने भी जॉइन कर लिया है…..जिन्हे सख्त आदेश जारी किया गया है….कि सभी महिला को सुरक्षा कदम उठाये गए है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *