जातक ज्योतिष ज्ञान की ठीक से ले जानकारी : ज्योतिषाचार्य पं. राम कुमार शास्त्री

बुलंदशहर। जिस जातक या जातिका को अपने भाग्य का फैसला ज्योतिष ज्ञान से करना है। वह ज्योतिष ज्ञान की ठीक से जानकारी ले। ताकि वह ज्योतिष ज्ञान को बाद में कलंकित न करें। क्यों कि ज्योतिष ज्ञान को बनाने वाले पूर्वजों की भावना को ठेस पहुंचती है। यह बात सारस्वत ज्योतिष के ज्योतिषाचार्य पं. राम कुमार शास्त्री ने कही। ज्योतिषाचार्य ने यह बात रामा इक्लेब मकान नंबर 206 सम्राट होटल के पीछे बुलंदशहर (उत्तरप्रदेश) कार्यालय पर जातक या जातिका को संबोधित करते हुए कही।
ज्योतिषाचार्य ने कहा कि ज्योतिष ज्ञान है। इस ज्ञान से जातक या जातिका के आने वाले भविष्य को देखा जा सकता है कि उसका आने वाला भविष्य कैसा होगा। ज्योतिष ज्ञान से भविष्य वाणी गणित से की जाती है कि कौन से ग्रह कितने साल भुगतने वाले है। उसी के आधार पर उसके ग्रहों का फल ज्योतिषाचार्य करता है। लेकिन कई बार ऐसा देखा गया है कि ग्रह विपरीत होती हैं और उसका भाग्य खुल जाता है। जिससे जातक या जातिका अच्छे पद पर उन्नति कर लेता है। ज्योतिषाचार्य ने कहा कि ऐसी दशा होने पर जातक या जातिका ज्योतिषाचार्य से प्रश्र करते हैं कि आपने ऐसा लिखा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और ऐसा हो गया। आपकी बात सच्च नहीं निकली। फिर वह जातक या जातिका ज्योतिषाचार्य से दूर होने लगते हैं। ज्योतिषाचार्य ने कहा कि ऐसी दशा कई बार आई है और कई बार लोगों को अपने पूर्व जन्मों का फल मिलता है, लेकिन थोड़े समय में थोड़ा ही लिखा जाता है। पूर्ण भविष्य की वाणी के लिए समय चाहिये होता है, लेकिन उसके लिए न तो जातक और जातिका समय देते और न ही दक्षिणा देते हैं। ज्योतिषाचार्य ने कहा कि जातक या जातिका की कुंडली बनने से वह काफी हद तक ज्योतिष ज्ञान के बारे में सीख जाते हैं, लेकिन उन्हें ज्योतिषाचार्य पर विश्वास करना चाहिए और पूर्व जन्मों के फल को स्वीकारना चाहिए।
पूछताछ के लिए संपर्क करें – ज्योतिषाचार्य पं. राम कुमार शास्त्री
09719100429 ram kumar sharma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *